वल्लभगढ़ हत्याकांड हिन्दू नाम बताकर निकिता को फंसाया था लव के चक्कर मे , हुआ खुलासा

आज कल सभी देश के सभी जगहों लव जिहाद के मामलों को लेकर चारों ओर शोर मचा है कंट्टरपंथी मुस्लिम साजिश के तहत हिन्दू लड़कियों पर निशाना साध रहे है हिंदू लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाकर उनकी जिंदगी बर्बाद की जा रही है हरियाणा के बल्लभगढ़ में लव जेहादियों के षड़यंत्र में जान गवांने वाली निकिता तोमर के हत्यारों को फांसी देने की मांग की जा रही है इस घटना को लेकर हिन्दू के लोगों में गुस्सा है और हर तरफ बस यही सवाल पूछा जा रहा है कि आखिर हिंदुओं के धैर्य की परीक्षा कब तक ली जाएगी?

निकिता को फरीदाबाद से सटे बल्लभगढ़ में तौसीफ नाम के युवक ने बीच सड़क पर गोली मारी थी अब इस मामले में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। निकिता की हत्या को लेकर सामने एक बड़ी खबर आ रही है।

बताया जा रहा है कि निकिता तोमर हत्याकांड के मुख्य आरोपी तौसीफ ने खुद का नाम अंकित बताकर उससे दोस्ती की थी तौसीफ ने यह सब लव जिहाद की साजिश के तहत किया था हालांकि यह बात ज्यादा दिन तक छिप नहीं पाई और असली नाम का पता एक दिन चल ही गया आइये हम आपको बताते है कि आखिर ये सच कैसे सामने आया है और निकिता की सहेली ने और क्या-क्या खुलासा किया।

इस सच का तब पता चला जब तौसीफ को स्कूल के एक साथी ने उसके असली नाम से पुकारा यह खुलासा निकिता के साथ स्कूल में पढ़ने वाली उसकी सहेली किया ये सहेली कॉलेज में निकिता के साथ ही पढ़ती है।

निकिता की सहेली ने एक मीडिया संस्थान को बताया कि तौसीफ स्कूल के दिनों से ही निकिता से दोस्ती करना चाहता था, जबकि वह स्कूल में सीनियर था, निकिता जब 11वीं कक्षा में पढ़ती थी, तब तौसीफ 12वीं का छात्र था। ये सभी सच निकिता की सहेली ने बताया है।

कक्षा बड़ी में होने के कारण कई महीनों तक तौसीफ के असली नाम का उन्हें पता नहीं लग सका उसने निकिता को अपना नाम अंकित बताया था हमेशा ही वह निकिता से घुलने मिलने की कोशिश करता रहता था छात्रा ने बताया कि हालांकि उन दिनों इन सब बातों की ओर हम ध्यान नहीं देते थे क्योंकि तौसीफ उनकी कक्षा का विद्यार्थी नहीं था, इसलिए ज्यादा बातचीत नहीं होती थी। इसलिए उनको इस सच का पता नही चल सका।

निकिता के खूनी तौसीफ और रेहान को पुलिस ने दो दिनों के रिमांड पर लिया है पता चला है कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने कई राज उगले हैं पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में तौसीफ ने बताया है कि साल 2018 में उसने निकिता का अपहरण शादी की नीयत से ही किया था वह स्कूल के दिनों से ही उसे पसंद करता था और शादी करना चाहता था। इसलिए निकिता को अपने अपहरण में मथुरा लेकर गया था

इस बात की खबर पुलिस को पता लग गयी इसके बाद उसके परिवार की पुलिस व समाज के सामने काफी बदनामी हुई और सबके सामने उसे व उसके परिवार को निकिता के परिवार से माफी भी मांगनी पड़ी। तौसीफ की योजना निकिता का अपहरण करके उससे जबरदस्ती शादी करने की थी इसी कारण सोमवार को उसने अग्रवाल कॉलेज गेट पर निकिता को जबरन कार में डालने का प्रयास किया था निकिता के विरोध करने पर ही उसे गोली मार दी थी। जिस वजह से निकिता की हत्या हुई।

आपको कैसी लगी जानकारी हमें जरूर बताएं ऐसी ही नई नई जानकारी पाने के लिए हमें फ़ॉलो जरूर करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.